Mp Board Best Of Five Yojana 2022 - 2023 Latest News : 'बेस्ट ऑफ फाइव के कारण बच्चों का परफार्मेस हो रहा खराब

 Mp Board Best Of Five Yojana 2022 - 23 

मप्र माध्यमिक शिक्षा मंडल की दसवीं परीक्षा में छह विषय होते है। इसमें हिंदी, अंग्रेजी, संस्कृत, सामाजिक विज्ञान, गणित व विज्ञान शामिल है। साथ नेशनल स्किल्स क्वालिफिकेशन फ्रेमवर्क (एनएसक्यूएफ) के विषय भी रहेंगे।

 Mp Board Best Of Five Yojana 2022 - 23 Class 10th 

 इससे दसवीं में कुल सात विषय हो रहे है। इस संबंध में मंडल ने निर्देश जारी किए है कि दसवीं के विद्यार्थियों को हिंदी व अंग्रेजी लेना अनिवार्य होगा। साथ ही विज्ञान, गणित व सामाजिक विज्ञान मुख्य विषय रहेंगे। छटवें विषय के रूप में विद्यार्थी संस्कृत या एनएसक्यूएफ में से कोई एक विषय ले सकते है। इस संबंध में मंडल ने निर्देश जारी कर दिए है।

 Mp Board Best Of Five Scheme 2022 - 23 Class 10th 

 हालांकि विभागीय अधिकारियों की मानें तो मंडल के संस्कृत को वैकल्पिक विषय करने के संबंध में स्कूल शिक्षा विभाग सहमत नहीं है। 

आगामी सोमवार तक स्कूल शिक्षा विभाग मंडल के उक्त आदेश को निरस्त कर सकता है, जबकि मंडल का संस्कृत को वैकल्पिक विषय के रूप में लेने के संबंध में तर्क यह है कि अंग्रेजी को वैकल्पिक विषय किया, तो विद्यार्थी सबसे पहले इसे छोड़ेंगे। 

Mp Board Best Of Five Yojana 2022 - 23


 There are six subjects in the tenth examination of the Madhya Pradesh Board of Secondary Education.  It includes Hindi, English, Sanskrit, Social Science, Mathematics and Science.  Along with this, the subjects of National Skills Qualification Framework (NSQF) will also be ther


  Mp Board Best Of Five Yojana 2022 - 23 Class 10

  Due to this, there are a total of seven subjects in 10th class.  In this regard, the Board has issued instructions that it will be mandatory for the students of class X to take Hindi and English.  Also, Science, Mathematics and Social Science will be the main subjects.  As the sixth subject, students can take any one subject from Sanskrit or NSQF.  The Board has issued instructions in this regard


  Mp Board Best Of Five Scheme 2022 - 23 Class 10

  However, according to the departmental officials, the School Education Department is not agreeable with regard to making Sanskrit an optional subject of the Mandal


 Till the coming Monday, the School Education Department can cancel the said order of the Board, while the argument regarding taking Sanskrit as an optional subject of the Board is that if English is made an optional subject, then the students will leave it first 

 Mp Board Best Of Five Yojana 

शासन पहले ही बेस्ट आफ फाइव लागू करके विद्यार्थियों के भविष्य से खिलवाड़ कर रहा है। यदि अंग्रेजी को भी वैकल्पिक विषय के रूप में किया गया, तो आगामी समय में छात्र के भविष्य पर विपरीत प्रभाव पड़ेगा। 

 Mp Board Best Of Five Yojana 2022 - 23 बंद करने शासन को भेजा गया है प्रस्ताव

मंडल की दसवीं परीक्षा में वर्तमान नवीन शैक्षणिक सत्र से बेस्ट आफ फाइव को समाप्त करने का प्रस्ताव माशिमं की पाठ्यचर्या समिति ने भेजा है। मंडल ने बेस्ट आफ फाइव की कई कमियां गिनाई हैं। इसमें मप्र के विद्यार्थियों को आर्मी के फार्म भरने के योग्य न होने तक की बात कही गई है। बावजूद इसके स्कूल शिक्षा विभाग छात्रों के भविष्य से खिलवाड़ करते हुए उसे समाप्त करने का निर्णय नहीं ले पा रहा है

 Mp Board Best Of Five Yojana  2017 से लागू

मप्र माध्यमिक शिक्षा मंडल की दसवीं परीक्षा में विद्यार्थियों का रिजल्ट बढ़ाने के लिए वर्ष 2017 में 'बेस्ट आफ फाइव' योजना को लागू किया गया। इस योजना के तहत दसवीं के छह विषयों में पांच विषय में पास होना अनिवार्य है 

Mp Board Best Of Five Yojana 2022 - 23 information 

इस योजना के लागू होने के बाद अधिकांश छात्रों ने एक विषय के रूप में गणित व अंग्रेजी को पढ़ना बंद कर दिया। इसे देखते हुए मंडल ने दसवीं में 'बेस्ट आफ फाइव' को समाप्त करने के लिए अक्टूबर 2020 में अनुशंसा की। लेकिन इसके बाद विचार नहीं नहीं कि अब एक बार फिर से मंडल की पाठ्यचर्या समिति की बीते मई में आयोजित बैठक में इसे दोबारा समाप्त करने का निर्णय लिया है


इस योजना को समाप्त करने को लकर शासन असमंजस में

मप्र बोर्ड में दसवीं का रिजल्ट के कम होने के डर के कारण स्कूल शिक्षा विभाग 'बेस्ट आफ फाइव' योजना को समाप्त करने का निर्णय नहीं ले पा रहा है, जबकि माध्यमिक शिक्षा मंडल इस योजना की कमियां गिनाते हुए उसे समाप्त करने का प्रस्ताव प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा के पास भेज चुका है।


Mp Board Best Of Five Yojana

 The government is already playing with the future of the students by implementing best of five. If English is also made as an optional subject, then the future of the student will be adversely affected in the future.


  Mp Board Best Of Five Yojana 2022 - 23 Proposal has been sent to the government for closure

 In the tenth examination of the board, a proposal to eliminate the best of five from the current new academic session has been sent by the Curriculum Committee of Mashim. Mandal has enumerated many shortcomings of Best of Five. In this, it has been said that the students of MP are not even eligible to fill the army form. Despite this, the School Education Department is not able to take the decision to end it, playing with the future of the students.


  Mp Board Best Of Five Yojana Applicable From 2017

 The 'Best of Five' scheme was implemented in the year 2017 to increase the results of the students in the tenth examination of the Madhya Pradesh Board of Secondary Education. Under this scheme, it is mandatory to pass in five subjects out of six subjects of class 10th.


 Mp Board Best Of Five Yojana 2022 - 23 information

 After the implementation of this scheme, most of the students stopped studying Mathematics and English as one of the subjects. In view of this, the Board recommended in October 2020 to eliminate the 'Best of Five' in class X. But after that there is no thought that now once again in the meeting of the Board's Curriculum Committee held in May last, it has been decided to end it again.


Mp board Best of five scheme 2022 - 2023


 The government is confused about ending this scheme.


 The School Education Department is unable to take the decision to end the 'Best of Five' scheme due to the fear of decreasing the 10th result in the MP Board, while the Board of Secondary Education proposes to abolish it by counting the shortcomings of this scheme. School has been sent to education.


0 टिप्पणियाँ