Mp Board Baseline Test Class 3rd to 8th 2022 : कक्षा 3 से 8वीं तक के बच्चों का बेस लाइन 2022

Mp Board Baseline Test Class 3rd to 8th 2022 madhyapradesh कक्षा 3 से 8वीं तक के बच्चों का बेस लाइन टेस्ट का काम शुरू हो रहा है। बच्चों का शैक्षणिक स्तर जांचकर उन्हें अंकुर और तरुण समूह में रखकर अगले डेढ़ महीने तक उन्हें कमजोर विषयों की पढ़ाई कराकर उन्हें दक्ष किया जाएगा।




 जिलेभर के 82 हजार 400 बच्चों का यह टेस्ट लिया जाएगा। इसके बाद इन्हें पढ़ाने के लिए जो दक्षता उन्नयन अभ्यास पुस्तिका दी जाना है, उसे भी स्कूलों में पहुंचाने का काम शुरू हो चुका है। मिडिल कक्षाओं तक के बच्चों के लिए बेस लाइन टेस्ट लिया जा रहा है। इसमें दो ग्रुप में बच्चों का स्तर देखा जाएगा। कक्षा 3 से 5 तक के छात्र-छात्राओं का टेस्ट लिया जाएगा। इस बेस लाइन टेस्ट में जो भी बच्चे कमजोर पाए जाते हैं, उन्हें अंकुर समूह में रखा जाएगा। इसी तरह कक्षा 6 से 8 तक के बच्चों का टेस्ट लिया जाएगा। 



इस टेस्ट में जो बच्चे जिस विषय में कमजोर पाए गए, उन्हें उन विषयों में पढ़ाया जाएगा, जिसमें वे कमजोर हैं। क्या है बेस लाइन टेस्ट: बेस लाइन टेस्ट में बच्चों का सभी विषयों में उन्हें कितना ज्ञान है, इसे परखा जाता है। शिक्षक इन बच्चों की दक्षता जांचते हैं। इसे जांचने के बाद ही पता चल पाता है कि टेस्ट में कितने बच्चे कमजोर हैं।

प्रवेश के समय ही दक्षता देखी जाएगी

30 जून के बाद जिस बच्चे का एडमिशन हुआ है तो उसकी दक्षता का निर्धारण उसी समय होगी। एडमिशन के समय ही देख लिया जाएगा कि वह किस समूह का छात्र है। उसे उसके समूह के हिसाब से तैयार कराया जाएगा। इसका उद्देश्य बच्चो को योग्य बनाना है।


इस तरह होता है टेस्ट

इन सभी बच्चों को शिक्षक टेस्ट लेते हैं। इसमें देखा जाता है कि बच्चा वर्ण, शब्द पहचान पाता है या नहीं। इसके अलावा वाक्य पढ़ना जानता है या नहीं। गणित विषय में दो से तीन संख्याओं का योग, घटना और गुणा आता है या नहीं, इसे भी देखा जाता है। इसके अलावा बच्चों को कहानियां आती हैं या नहीं, इसे भी देखा जाता है। यह काम 30 जून तक चलेगा। इस संबंध में एपीसी जिला शिक्षा केंद्र राकेश अग्रवाल ने बताया कि दक्षता उन्नयन अभ्यास पुस्तिका आ चुकी हैं। इनका स्कूलों में वितरण कराया जा रहा है।

अंकुर और तरूण समूह में रखेंगे बच्चे

शिक्षक 15 अगस्त तक इन बच्चों को पढ़ाकर इनकी कमजोरी को दूर करेंगे। इस तरह डेढ़ महीने तक इन बच्चों को कमजोर विषयों में पढ़ाकर दक्ष किया जाएगा। अंकुर और तरुण समूह में किस तरह बच्चों को तय कर इनमें रखेंगे, इसके लिए कक्षा 3 से 5वीं तक के बच्चे यदि कक्षा 1 या 2 लेबल के हों तो फिर उन्हें अंकुर समूह में रखा जाएगा। इसी तरह कक्षा 6 से 8 तक के बच्चों का लेवल भी देखा जाएगा। इसमें यदि इन बच्चों को कक्षा 3 से 5 तक का लेबल होता है तो फिर इन्हें तरुण समूह में रखा जाएगा और जिन विषयों में ये बच्चे कमजोर होंगे, उन्हें उस विषय में तैयार कराया जाएगा। कक्षा 1 और 2 के बच्चों का बेस लाइन टेस्ट नहीं होगा।


Mp Board Baseline Test Class 3rd to 8th 2022 madhyapradesh Baseline test work for children of class 3 to 8 is starting.  After checking the educational level of the children, keeping them in Ankur and Tarun group, they will be made proficient by making them study weak subjects for the next one and a half months.


  This test will be taken of 82 thousand 400 children across the district.  After this, the work of delivering the skill upgradation exercise book which is to be given to teach them, has also started in the schools.  Base line test is being taken for children up to middle classes.  In this, the level of children will be seen in two groups.  The test will be taken for the students of classes 3 to 5.  Children who are found weak in this baseline test will be placed in the seedling group.  Similarly, the test will be taken for the children of classes


 The subjects in which the children were found weak in this test will be taught in those subjects in which they are weak.  What is Base Line Test: In Base Line Test, the knowledge of children in all subjects is tested.  Teachers check the competencies of these children.  Only after checking it, it is known that how many children are weak in the


 Efficiency will be seen only at the time of admission 

 If the child has been admitted after June 30, then his efficiency will be determined at the same time.  At the time of admission, it will be seen which group the student belongs to.  He will be prepared according to his group.  Its aim is to make the children eligible

Ankur and Tarun will keep children in the group

 Teachers will remove their weakness by teaching these children till August 15. In this way, for one and a half months, these children will be made skilled by teaching them in weak subjects. How Ankur and Tarun will keep the children in the group, for this, if the children of class 3 to 5 are labeled as class 1 or 2, then they will be kept in the Ankur group. Similarly, the level of children from class 6 to 8 will also be seen. In this, if these children are labeled from class 3 to 5, then they will be placed in the youth group and the subjects in which these children are weak, they will be made prepared in that subject. There will be no base line test for class 1 and 2 children.



 This is how the test is 

 Teachers take tests for all these children.  It is seen whether the child is able to recognize letters, words or not.  Also knows how to read sentences or not.  It is also seen whether the addition, occurrence and multiplication of two to three numbers occurs in the subject of mathematics.  Apart from this, whether children know stories or not, it is also seen.  This work will continue till June 30.  In this regard, APC District Education Center Rakesh Aggarwal informed that the skill upgradation exercise manual has arrived.  These are being distributed in school.

.done.on test. 6 to 8.s.

Mp Board Baseline Test Class 3rd to 8th 2022


0 टिप्पणियाँ