MP TET PAPER LEAK : मामले में मंत्री गोविंद राजपूत को हटाने की मांग

 कॉलेज की मान्यता व परीक्षा रद्द करवाने पर अड़ी कांग्रेस

मप्र प्राथमिक शाला शिक्षक पात्रता परीक्षा का पेपर लीक होने के मामले में परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत के कॉलेज ज्ञानवीर इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट एंड साइंस सेंटर का नाम सामने आने के बाद प्रदेश की राजनीति में उबाल आगया है। इसको लेकर कांग्रेस हमलावर है और गोविंद राजपूत को मंत्रिमंडल से बर्खास्त करने के साथ ही परीक्षारद्द करने और उनके कॉलेज की मान्यता समाप्त करने की मांग की है। अब इस मामले में सभी की निगाहें मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के अगले कदम पर लगी हुई हैं।


इस फर्जीवाड़े में मंत्री राजपूत के बेटे और ज्ञानवीर इंस्टीट्यूट के को- चैयरमैन आदित्य राजपूत की भूमिका संदिग्ध है। प्रारंभिक जांच में यह बात साबित हो गई है कि लीक हुए पेपर का स्क्रीन शॉट राजपूत के कॉलेज से ही जारी हुआ। अधिकारियों के मुताबिक, एमपीटीईटी-2020 परीक्षा के प्रश्नपत्र के स्क्रीन शॉट में बताए गए प्रश्न 25 मार्च 2022 को हुई परीक्षा में पूछे गए थे। पेपर का स्क्रीन शॉट इसी कॉलेज से परीक्षा देने वाले छात्र मनोज कुमार पाटिल का है। ज्ञानवीर इंस्टिट्यूट का कामकाज देखने वाले मनीष जैन ने कहा है कि हमारे कॉलेज ने सिर्फ कम्प्यूटर और हॉल किराए पर दिए थे। पेपर लीक से हमारा कोई संबंध नहीं है।

Mp tet paper leak


परीक्षा कोनिरस्त करें:अरुणयादव

कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव ने कहा कि अपना जमीर बेचकर लोकतंत्र की हत्या करने वाले एक मंत्री के पुत्र के सागर स्थित कॉलेज में महाघोटाले की नींव रखी गई थी। इस महाघोटाले ने छात्रों के भविष्य से खिलवाड़ किया गया है। उन्होंने परीक्षा रद्द करने की मांग की है।

कमल नाथ के नेतृत्व में होगा आंदोलन: सबलोक

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता व सागर संभाग प्रभारी डॉ. संदीप सबलोक ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ के नेतृत्व में कांग्रेस आंदोलन की रणनीति बना रही है। उन्होंने आरोप लगाया कि शिवराज सरकार अपने मंत्री को बचाने में लगी हुई है। यह प्रदेश के युवाओं के रोजगार का सवाल है।

पीईबीने दी क्लीनचिट

 पीईबी के अधिकारियों ने बताया कि यह स्क्रीन शॉट सागर स्थित ज्ञानवीर इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट एंड साइंसेस सेंटर से जारी हुआ है। हमारे यहां साईं एडुकेयर नाम की संस्था ने एग्रीमेंट कर बिल्डिंग किराए पर ली थी, जो भी हुआ उसकी जिम्मेदारी उनकी है।

 हमने परीक्षा कक्ष के सीसीटीवी रिकॉर्ड देखे हैं। इसमें कोई गड़बड़ी नहीं मिली है।

 -आईसीपी केशरी, एमपीपीईबी,चेयरमैन



0 Comments