Mp Board Exam 2022 : ऑफलाइन परीक्षा कराने पर अड़े स्कूल

 ऑफलाइन परीक्षा कराने पर अड़े स्कूल

Mp Board Exam 2022


कक्षाएं 50 फीसदी क्षमता से लगाने की अनुमति, प्राथमिक कक्षाओं में उपस्थिति 10 फीसदी तक ही, फिर कैसे होंगी ऑफलाइन परीक्षाएं अभिभावक बोले पहली से आठवीं कक्षा तक ऑनलाइन ही ली जाए परीक्षा, बड़ी कक्षाओं के विद्यार्थियों को ही बुलाकर लें परीक्षा (भोपाल, ईएमएस)।

भोपाल। तीसरी लहर का पाक गुजर जाने की स्थिति आ जाने के आधार पर राज्य सरकार ने 50 फीसदी क्षमता के साथ स्कूल खोल दिए हैं। अनुमति भले ही 50 फीसदी की हो लेकिन कक्षाओं में विद्यार्थियों की उपस्थिति इससे भी कम है। सबसे कम उपस्थिति प्राथमिक कक्षाओं में है। जहां बमुश्किल 10 फीसदी बच्चे भी स्कूल नहीं जा रहे है। लेकिन इसके बावजूद निजी स्कूल उच्च कक्षाओं के साथ-साथ प्राथमिककक्षाओं की


परीक्षाएं भी ऑफलाइन कराने पर अड़े हुए हैं। अभिभावकों को लगातार इसकी जानकारी देकर बच्चों को परीक्षाओं में भेजने का दबाव बनाया जा रहा है। इसके चलते अभिभावकों में नाराजगी है। अभिभावकों का कहना है कि, तीसरी लहर अभी खत्म नहीं हुई है और केस भी पूरी तरहकम नहीं होकर घट-बढ़ रहे हैं। ऐसे में बच्चों की सुरक्षा से कोई समझौता नहीं किया जा सकता। बोर्ड की कक्षाओं सहित नवमी और 11 वीं की बड़ी कक्षाओं में ऑफलाइन परीक्षाएं जरूर कराई जाएं लेकिन प्राथमिक माध्यमिक कक्षाओं की परीक्षाएं ऑनलाइन ही हो।

वैक्सीन का कवच भी नहीं कैसे भेज दें? : अभिभावकों और जानकारों का कहना है कि, पहली से आठवीं तक के छोटे बच्चे जो स्कूल नहीं जा रहे हैं और इनके पास वैक्सीन की सुरक्षा भी नहीं है, उन्हें पूरी 100 फीसदी क्षमता से परीक्षा के लिए कैसे बलाया जा सकता है। इसमें भी पहली से पांचवी तक बिल्कुल छोटे बच्चे तो सोशल डिस्टेसिंग और मास्क हमेशा लगाने की सुरक्षा भी नहीं अपना सकते है, इसलिए इस सम्बंध में स्कूलों को विकल्प देना ही चाहिए।

कोई स्पष्ट निर्देश नहीं स्कूल ऑनलाइन परीक्षा लें या ऑफलाइन परीक्षा ही लेंगे, इस सम्बंध में अब तक राज्य सरकार या स्कूल शिक्षा विभाग ने कोई निर्देश नहीं निकाले हैं। स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारी भी इस सम्बंध में कोई स्पष्ट निर्देश नहीं होने के चलते कुछ भी कहने से बच रहे हैं। ऐसे में कुछ ही दिनों में शुरू होने जा रही परीक्षाओं को लेकर गफलत की स्थिति बन गई है।

Schools adamant on conducting offline exams

Mp Board Exam 2022

 Permission to hold classes at 50 percent capacity, attendance in primary classes only up to 10 percent, then how will offline exams be conducted .

 Bhopal. The state government has opened schools with 50 percent capacity on the basis of the situation when the third wave has passed. The permission may be 50 per cent but the attendance of students in the classes is even less. The lowest attendance is in primary classes. Where barely even 10 percent of the children are not going to school. But in spite of this, private schools offer higher classes as well as primary classes.

 They are also adamant on making the examinations offline. Parents are constantly being pressured to send their children to the examinations by giving information about this. Due to this there is resentment among the parents. Parents say that the third wave is not over yet and the cases are also increasing and not decreasing completely. Therefore, the safety of the children cannot be compromised. Offline examinations must be conducted in major classes of ninth and 11th including board classes, but examinations of primary secondary classes should be conducted online only.

 How not to send even a vaccine shield? Parents and experts say that, how can small children from class I to VIII who are not going to school and do not have the protection of vaccine, how can they be forced to take the exam at 100% capacity. In this too, very young children from the first to the fifth cannot even adopt the safety of social distancing and wearing masks, so schools should be given options in this regard.

 There is no clear instruction whether the school will take the online examination or will take the offline examination only, so far no instructions have been issued by the state government or the school education department in this regard. The officials of the School Education Department are also refraining from saying anything as there is no clear instruction in this regard. In such a situation, there has been a situation of confusion regarding the examinations which are going to start in a few days.

0 टिप्पणियाँ