Mp Board Exam 2022 : 3 Years Jail For Cheating In Exam News

 Mp Board Exam में Cheating करने वालो के लिए इस बार खास इंतजाम किए गए है । इस बार नकल करते पकड़े जाने पर 3 साल के जेल का प्रबंध किया गया है । 

Mp board 3 years Jail for cheating in exam

दसवीं-बारहवीं बोर्ड परीक्षा में नकल करने पर होगी तीन साल की जेल

परीक्षा केंद्र के 100 गज के दायरे में आने पर होगी दंडात्मक कार्यवाही । माध्यमिक शिक्षा मंडल की दसवीं-बारहवीं परीक्षा में नकल करने वाले परीक्षार्थियों को तीन साल की जेल या पांच हजार रुपए का जुर्माना हो सकता है। वहीं, परीक्षा में प्रवेश लेने वाले विद्यार्थियों के प्रवेश पत्र में गलती होने पर सुधार के लिए अंतिम मौका दिया गया है। विद्यार्थी 12 से 14 फरवरी के बीच सुधार कर सकते है।

मप्र माध्यमिक शिक्षा मंडल की दसवीं-बारहवीं बोर्ड परीक्षा 17 फरवरी शुरू हो रही है। बारहवीं परीक्षा में कुल 7,14,932 परीक्षार्थी तथा दसवीं में कुल 10,66,791 परीक्षार्थी शामिल हो रहे है। हायर सेकेंडरी परीक्षा के लिए 3,586 व हाईस्कूल परीक्षा के लिए 3,861 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। परीक्षा को लेकर मंडल द्वारा जारी निर्देशों के मुताबिक बोर्ड रहेगी। परीक्षाओं में यदि कोई परीक्षार्थी अनुचित साधनों का प्रयोग करता है, या कोई व्यक्ति इसमें उसकी सहायता करता है तथा परीक्षार्थियों के धमकी देना या हथियार ले जाने पर भी तीन साल की सजा का प्रावधान है। अनुचित साधनों का प्रयोग करते पाए जाने पर दोषी व्यक्ति को सरकारी सेवा में नहीं लिया जाएगा। क्लास में सामूहिक नकल या अन्य व्यक्ति द्वारा नकल करवाने पर सभी परीक्षार्थियों का परीक्षाफल निरस्त होगा।

परीक्षा केंद्र से 100 गज की दूरी तक धारा 144 लागू रहेगी । 


पांच मिनट पहले दी जाएंगी उत्तर पुस्तिकाएं

मप्र माध्यमिक शिक्षा मंडल ने दसवीं-बारहवीं परीक्षा के समय में परिवर्तन कर दिया है। अभी तक मंडल की परीक्षा सुबह साढ़े 8 से साढ़े 11 बजे तक परीक्षा आयोजित करता रहा है, लेकिन अब परीक्षा सुबह 10 से दोपहर 1 बजे तक आयोजित होगी। सुबह साढ़े 8 बजे तक परीक्षा केंद्र में पहुंचना अनिवार्य होगा। केंद्राध्यक्ष की अनुमति से 9.45 तक प्रवेश हो सकते है। इसके बाद केंद्राध्यक्ष भी प्रवेश नहीं दे सकते हैं19.50 बजे केंद्र में कापियां वितरित की जाएगी। 9.55 बजे प्रश्न पत्र का वितरण होगा। इससे प्रश्न- पत्रों के वाट्सअप पर आउट होने की संभावना नगण्य हो जाएगी।

20 छात्रों पर एक पर्यवेक्षक

परीक्षाओं में 20 छात्रों पर एक पर्यवेक्षक नियुक्त किया जाएगा। एक क्लास में 20 से अधिक व चालीस से कम छात्रों पर दो पर्यवेक्षक नियुक्त रहेंगे। छात्रों की चालीस से अधिक संख्या होने पर 15 परीक्षार्थियों पर एक पर्यवेक्षक रहेगा।

 12 फरवरी से शुरू होगी प्रायोगिक परीक्षा 

दसवीं-बारहवीं के नियमित विद्यार्थियों की प्रायोगिक परीक्षा 12 से 25 मार्च के बीच होगी जबकि प्रायवेट विद्यार्थियों की प्रायोगिक परीक्षा आवंटित परीक्षा केंद्र पर 18 फरवरी से 20 मार्च के बीच आयोजित की जाएगी।

अनुचित साधन की श्रेणी में आएगा केलकुलेटर

बोर्ड परीक्षा में कैलकुलेटर का उपयोग अनुचित साधन की श्रेणी में माना जाएगा। साधारण कैलकुलेटर, साइंटिफिक केलकुलेटर, पेजर, सेल्युलर फोन, कंप्यूटर के उपयोग पर प्रतिबंध लगाया गया है।

This time special arrangements have been made for those who cheat in Mp Board Exam. This time 3 years jail has been arranged for being caught copying.

 Mp board 3 years Jail for cheating in exam
 There will be three years in jail for copying in the tenth-twelfth board examination
 Penal action will be taken for coming within 100 yards of the examination center. Candidates cheating in class X-XII examinations of Board of Secondary Education can be jailed for three years or fined five thousand rupees. At the same time, if there is a mistake in the admit card of the students taking admission in the examination, the last chance has been given for rectification. Students can make corrections between February 12 to 14.

 The tenth-twelfth board examination of the Madhya Pradesh Board of Secondary Education is starting on February 17. A total of 7,14,932 candidates are appearing in class XII and 10,66,791 candidates are appearing in class X. 3,586 examination centers have been set up for higher secondary examination and 3,861 for high school examination. According to the instructions issued by the board regarding the examination, the board will remain. In the examinations, if any candidate uses unfair means, or if any person helps him in this and there is a provision of three years imprisonment for threatening the examinees or carrying weapons. A person found guilty of using unfair means will not be taken into government service. In case of mass copying or copying by other person in the class, the result of all the candidates will be canceled.
 Section 144 will be applicable up to a distance of 100 yards from the examination center.

 Answer sheets will be given five minutes before
 The Madhya Pradesh Board of Secondary Education has changed the timings of the tenth-twelfth examinations. Till now the board has been conducting the examination from 8.30 am to 11.30 am, but now the examination will be conducted from 10 am to 1 pm. It will be mandatory to reach the examination center by 8.30 am. With the permission of the head of the center, admission can be done till 9.45. After this, even the head of the center cannot give admission, copies will be distributed in the center at 19.50. The question paper will be distributed at 9.55 am. This will reduce the chances of question papers getting out on WhatsApp.
 One supervisor per 20 students
 One supervisor will be appointed for every 20 students in the examinations. Two supervisors will be appointed for more than 20 and less than 40 students in a class. If the number of students is more than forty, there will be one supervisor for 15 candidates.
  Practical exam will start from February 12
 The practical examination of the regular students of class X-XII will be held from March 12 to 25, while the practical examination of the private students will be held from February 18 to March 20 at the allotted examination center.
 Calculator will come under the category of unfair means
 Use of calculator in board examination will be treated as unfair means. Use of simple calculators, scientific calculators, pagers, cellular phones, computers have been banned.


0 Comments