Hijab Controversy In Madhyapradesh: ( मध्यप्रदेश हिजाब विवाद ) स्कूल शिक्षा मंत्री ने कहा परंपरा घर तक सीमित

 Hijab Controversy In Madhyapradesh 

हिजाब विवाद: स्कूल शिक्षा मंत्री ने कहा- परंपरा घर तक सीमित हिजाब यूनिफॉर्म का हिस्सा नहीं, स्कूलों में प्रतिबंधित करेंगे: परमार 

Hijab controversy in madhyapradesh

आदेश का उल्लंघन, छात्राएं हिजाब पहनने की मांग पर अड़ी रहीं । 

कर्नाटक के स्कूल-कॉलेजों में लड़कियों के हिजाब पहनने को लेकर चल रहे विवाद के बीच स्कूल शिक्षा राज्यमंत्री इंदरसिंह परमार ने मंगलवार को कहा कि हिजाब यूनिफार्म का हिस्सा नहीं है, इसलिए इस पर प्रतिबंध लगना चाहिए। उन्होंने कहा कि जानबूझकर स्कूलों का माहौल खराब करने की कोशिश हो रही है। अगले सत्र से स्कूलों में ड्रेस कोड सख्ती से लागू किया जाएगा। परमार ने कहा कि भारत की मान्यता है, जो लोग जिस परंपरा में विश्वास करते हैं, वह उसका अपने घरों तक पालन करें। फिलहाल मप्र में अभी इस तरह का कोई मामला सामने नहीं आया है। 

परमार के बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए भोपाल मध्य से कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद ने कहा, बेटियां तब अच्छी लगती हैं, जब उनका शरीर ढंका हुआ हो। मैं चाहता हूं मेरी बेटी अच्छे कपड़े पहने पर शरीर ढंका रहे। ऐसे ही परमार को भी दूसरों की बेटियों के बारे में सोचना चाहिए। मैं स्कूलों में हिजाब पर प्रतिबंध लगाने का विरोध करूंगा।

कर्नाटक हाईकोर्ट में कल फिर सुनवाई

कर्नाटक में हिजाब विवाद को लेकर दिनभर जोरदार हंगामा हुआ। इसके बाद राज्य सरकार ने अगले तीन दिन के लिए स्कूल कॉलेज बंद करने का आदेश दिया है। इससे पहले कर्नाटक हाईकोर्ट में मंगलवार को हिजाब मामले में मुस्लिम छात्राओं की 4 याचिकाओं पर सुनवाई हुई। कोर्ट ने कहा कि हम कारणों और कानून के मुताबिक चलेंगे, जो संविधान कहेगा, हम वही करेंगे। कोर्ट बुधवार को एक बार फिर ढाई बजे मामले पर सुनवाई करेगा।

लोकसभा में उठा 'हिजाब' का मुद्दा

 कर्नाटक में हिजाब का विवाद कर्नाटक हाईकोर्ट तो पहुंच ही गया है, नामला सोमवार को लोकसना में भी उठा। केरल से कावग्रेस पार्टी के सांसद टीपल प्रताप ने इस मुद्दे को सदन में उठाया और पूछा कि हम अपने देश को कहा ले जा रहे हैं। हम अपनी विविधता को खत्म नहीं होने दे सकते। केरल के सांसद प्रताप ने शिक्षा मंत्री से आग्रह किया कि वे छात्रों के संवैधानिक अधिकारों की रक्षा के लिए इस मामले में हस्तक्षेप करे।

आज सुनवाई करेगा हाईकोर्ट

कर्नाटक हिजाब विवाद को लेकर सभी की निगाहें अब कर्नाटक हाईकोर्ट के फैसले पर टिकी हुई है। हाईकोर्ट ने 8 फरवरी यानी मंगलवार को हिजाब विवाद को लेकर दायर की गई याचिका पर सुनवाई करेगी। कर्नाटक में हिजाब पहनकर कक्षा में प्रवेश करने पर रोक लगा दी गई है, लेकिन मुस्लिम लड़कियों का एक गुट कॉलेज में हिजाब पहनने के अपने फैसले पर अड़ा हुआ है। कर्नाटक शिक्षा विभाग ने एक निर्देश जारी कर सभी सरकारी स्कूलों को राज्य सरकार द्वारा घोषित ड्रेस कोड का पालन करने को कहा है। यही नहीं, यह भी कहा गया है कि प्राइवेट स्कूल के छात्र भी स्कूल प्रबंधन द्वारा तय की गई ड्रेस का पालन करेंगे।

Hijab controversy

 School Education Minister said - tradition is not a part of hijab uniform limited to home, will be banned in schools: Parmar

 Hijab controversy: School education minister said - tradition is limited to home

 Violation of the order, the girls remained adamant on the demand to wear hijab.

 Amid the ongoing controversy over girls wearing hijab in schools and colleges in Karnataka, Minister of State for School Education Indersinh Parmar said on Tuesday that hijab is not a part of the uniform, so it should be banned. He said that deliberate efforts are being made to spoil the atmosphere of the schools. Dress code will be strictly implemented in schools from next session. Parmar said that India has a belief that the people who believe in the tradition should follow it till their homes. So far no such case has come to light in MP.

 Reacting to Parmar's statement, Congress MLA from Bhopal Central Arif Masood said, "Daughters look good when their bodies are covered." I want my daughter to wear nice clothes but keep her body covered. Similarly, Parmar should also think about the daughters of others. I will oppose the ban on hijab in schools.

 Hearing tomorrow in Karnataka High Court

 There was a huge uproar throughout the day over the Hijab controversy in Karnataka. After this, the state government has ordered the closure of the school and college for the next three days. Earlier on Tuesday, the Karnataka High Court heard 4 petitions of Muslim girl students in the hijab case. The court said that we will follow the cause and the law, whatever the constitution says, we will do that. The court will once again hear the matter at 2.30 pm on Wednesday.

 The issue of 'hijab' raised in Lok Sabha

 The controversy of Hijab in Karnataka has not only reached the Karnataka High Court, but the name also arose in Loksana on Monday. Tipal Pratap, MP from Kerala Congress, raised this issue in the House and asked where are we taking our country. We cannot let our diversity die. Kerala MP Pratap urged the Education Minister to intervene in the matter to protect the constitutional rights of the students.

 High Court will hear today

 All eyes are now on the Karnataka High Court's decision regarding the Karnataka Hijab controversy. The High Court will hear the petition filed regarding the hijab dispute on Tuesday, 8 February. In Karnataka, wearing the hijab has been banned from entering the classroom, but a group of Muslim girls is adamant on their decision to wear the hijab in college. The Karnataka Education Department has issued a directive asking all government schools to follow the dress code announced by the state government. Not only this, it has also been said that the students of private schools will also follow the dress fixed by the school management.


0 Comments